मास कम्युनिकेशन में कैरियर । Mass Communication me career kaise banaye

Mass communication career


मास कम्युनिकेशन वर्तमान समय में करियर का बेस्ट ऑप्शन है। इस कोर्स के माध्यम से जनसंचार की दुनिया में प्रवेश पाया जा सकता है। यह कोर्स अधिकांश युवाओं की पहली पसंद है। एक समय था, जब अधिक लोगों की करियर चॉइस डॉक्टर और इंजीनियरिंग प्रोफेशन था। लेकिन पिछले कुछ दशकों से मास मीडिया ने बहुत अधिक विकास कर लिया है। जिस कारण यंहा पर अनेक पदों का सृजन हुआ है।

how make career in mass communication

जनसंचार का आरम्भ प्रिंट मीडिया के आगमन से शुरू हुआ लेकिन रेडियो और टेलीविज़न ने इसे नयी गति दी। रेडियो और टीवी के आ जाने से मीडिया का दायरा और भी बढ़ गया। वर्तमान समय में यह मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन बन गया है। पिछले कुछ दशकों से भारत में डिजिटल इंडिया पर जोर दिया गया है । जिसके परिणाम स्वरूप मीडिया का एक नया माध्यम सामने आया है। जिसे हम ऑनलाइन मीडिया या डिजिटल मीडिया कहते हैं। डिजिटल मीडिया को न्यू मीडिया के नाम से भी जाना जाता है। ऑनलाइन मीडिया वर्तमान समय में मीडिया का सबसे सशक्त माध्यम है। इस मीडिया के द्वारा हम किसी भी सूचना या खबर से तुरुन्त ही रूबरू हो जाते हैं।

इस कोर्स को करने बाद पत्रकारिता और फिल्म इंडस्ट्री में आसानी से करियर बनाया जा सकता है। यह एक ऐसा कोर्स है जहाँ पर करियर के ढेरों अवसर हैं। मास कम्युनिकेशन को कम्पलीट करने के बाद आप चाहें तो प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, ऑनलाइन मीडिया,पब्लिक रिलेशन, फिल्म जगत में जॉब कर सकते हैं। आज के समय में विज्ञापन जगत में भी करियर के बहुत से अवसर है। इस कोर्स के माध्यम से आप विज्ञापन के क्षेत्र में भी करियर बना सकते हैं।

कहाँ- कहाँ है करियर बनाया जा सकता है-

प्रिंट मीडिया


इलेक्ट्रॉनिक मीडिया


ऑनलाइन मीडिया


फिल्म और टीवी सीरियल


पब्लिक रिलेशन


विज्ञपान

यह कोर्स अवसरों का समंदर है जहाँ पर अनेक क्षेत्रों में करियर बनाया जा सकता है। इस कोर्स का आज के दौर में बहुत ही ज्यादा स्कोप है। क्योंकि यह तेजी से ग्रोथ करने वाली और ग्लैमरस इंडस्ट्री है। इसी वजह से मास कम्युनिकेशन छात्रों की फर्स्ट चॉइस है। पत्रकारिता जगत में काम करने से आपकी भीड़ से अलग पहचान बनती है। आज के समय में पत्रकारिता परि और सम्मान जनक व्ययसाय है।

मास कम्युनिकेशन क्या है?

संचार माध्यमों की सहायता से बहुत बड़े स्तर पर लोगों के साथ सूचनाओं का आदान प्रदान करना ही जनसंचार या मास कम्युनिकेशन कहलाता है।
 ये जनसंचार माध्यम टेलिविज़न, रेडियो, समाचारपत्र, पत्र, पत्रिकाएँ, कंप्यूटर और इंटरनेट हैं। जनसंचार में एक ही समय में असंख्य लोगों तक सूचना पहुँचाने की क्षमता होती है। आज जनसंचार का दायरा बहुत ही विस्तृत हो चूका है। ये जंनसंचार की ही देन है कि हम दुनिया के किसी कोने में हो, चाहें जंहा के सूचनाएं और ख़बरें आसानी से पा सकते हैं।

व्यक्तिगत योग्यता-

मास कम्युनिकेशन के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए भाषा पर अच्छी पकड़ हो । समसायिक मुद्दे और सामान्य ज्ञान की जानकारी होना आवयश्क है। क्रिएटिव थिंकिंग,स्पस्ट आवाज और लेखन क्षमता का गुण आपके अंदर होना चाहिए। जनसंचार शब्दों की दुनिया है। आपके अंदर न्यूज़ सेंस यानि खबर को सूंघने की क्षमता है, तो ही इस क्षेत्र में प्रवेश करें। सिर्फ ग्लैमर से प्रवाहित होकर इस क्षेत्र में कदम न रखें। अगर आप के अंदर धैर्य, समर्पण, भीड़ से अलग करने की कुछ चाह है तो ये कोर्स आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है। पत्रकारिता एक सम्मानजनक प्रोफेशन होने के साथ ही जनसेवा है।

मीडिया का दायुत्व होता है कि वह समाज में होने वाली घटनाओं का ज्यों का त्यों पेश करे। घटना के तथ्यों के साथ किसी भी तरह की कोई गलत छेड़छाड़ न करे। कुछ पत्रकार रुपये के लालच में न्यूज़ को तोड़ मरोड़कर पेश करते हैं जोकि बिलकुल गलत है। आपको निडर और निष्पच्छ होकर पत्रकारिता करना होगा क्योंकि मीडिया का कार्य सामाजिक सरोकार से जुड़ा होता है।

कोर्स और योग्यता

Mass communication कोर्स करने के लिए कैंडिडेट को इण्टरमेडिट या ग्रेजुएशन होंना अनिवार्य है। अगर आप मास कम्युनिकेशन में बैचलर डिग्री या डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं तो आप का किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से इण्टरमेडिट पास होना जरुरी है। बैचलर डिग्री की अवधि 3 बर्ष वंही डिप्लोमा कोर्स की अवधि 2 बर्ष होती है। इसी प्रकार अगर आप मास कम्युनिकेशन में मास्टर डिग्री या पीजी डिप्लोमा करना चाहते हैं तो आप कम से कम किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन हों। मास्टर डिग्री 2 बर्ष की होती है।
इसके अलावा मास कम्युनिकेशन से सम्बंधित 6 महीने और 1 बर्ष के विभिन्न शार्ट टर्म कोर्स उपलब्ध हैं। आप अपने अनुसार किसी भी कोर्स का चयन कर सकते हैं।

कितनी मिलेगी सैलेरी

इस कोर्स को करने के बाद शुरुआती दौर में 15 हजार से 20 हजार तक आपको सैलरी मिल सकती है। धीर- धीरे अनुभव होने के साथ -साथ आपकी सैलेरी भी बढ़ती जायेगी। 5 बर्ष से ज्यादा अनुभव होने के बाद आप 30 हजार से 50 हजार तक सैलरी पा सकते हैं।

Mass communication करने के बाद कहाँ कहां मिलेगी नौकरी
Career options in mass media

टीवी न्यूज़ एंकर


टीवी न्यूज़ रिपोर्टर


वीडियो एडिटर इन न्यूज़ चैनल


टीवी न्यूज़ प्रोड्यूसर


न्यूज़ रिपोर्टर इन प्रिंट मीडिया


न्यूज़ एडिटर इन प्रिंट मीडिया


न्यूज़ रिपोर्टर इन ऑनलाइन मीडिया


न्यूज़ एडिटर इन ऑनलाइन मीडिया


फिल्म डायरेक्टर


फोटो ग्राफर


वीडियो ग्राफर


कैमरामैन इन फिल्म एंड टीवी


असिस्टेंट फिल्म डायरेक्टर


वीडियो एडिटर इन फिल्म प्रोडक्शन हाउस


कंटेंट राइटर


पब्लिक रिलेशन


एडवरटाइजिंग

Course related to Mass communication

बैचलर इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन (BJMC)


मास्टर इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन (MJMC)


पीजी डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन (PGDMC)


डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन


MA इन मास कम्युनिकेशन


BA इन मास कम्युनिकेशन


मास्टर इन मास कम्युनिकेशन एडवरटाइजिंग एंड जर्नलिज्म (MMCAJ)


बैचलर इन मास कम्युनिकेशन एडवरटाइजिंग एंड जर्नलिज्म (BMCAJ)


बैचलर इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म


मास्टर इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म


पीजी डिप्लोमा एंड डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म

कंहा से करें कोर्स

आजकल बहुत से इंस्टिट्यूट, कॉलेज, यूनिवर्सिटीज mass communication का कोर्स करवा रहीं हैं। किसी भी इंस्टिट्यूट, कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने से पहले वंहा के कैंपस प्लेसमेंट, प्रैक्टिकल के लिए लैब, टीचिंग फैक्ललिटी आदि के बारें में जानकारी आवश्य लें। क्योकि आज के समय में बहुत से इंस्टिट्यूट और कॉलेज चल रहे हैं जोकि 100 प्रतिशत प्लेसमेंट का दावा करते हैं लेकिन वास्तब में वंहा कोई कंपनी प्लेसमेंट के लिए आती ही नहीं और न ही वहां कोई टीचिंग के लिए अच्छी फकलिटी हैं। जिसका परिणाम ये होता है कि कोर्स कम्पलीट करने के बाद आपको नौकरी के लिए भटकना पड़ता है। एडमिशन उसी कॉलेज में लें जहाँ का कैंपस प्लेसमेंट अच्छा हो।

Best institute, University for mass communication


इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन, दिल्ली


www.iimc.nic.in

माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी, भोपाल


www.mcu.ac.in

दिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्ली


www.du.ac.in

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, बनारस


www.bhu.ac.in

जागरण इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड मास कम्युनिकेशन, दिल्ली


www.jimmc.in

गुरु घासीदास यूनिवर्सिटी, विलासपुर छत्तीसगढ


www.ggu.ac.in

लखनऊ यूनिवर्सिटी, लखनऊ


www.lkouniv.ac.in

NRAI स्कूल ऑफ मास कम्युनिकेशन


www.nraismc.com


ऐशियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन, नॉएडा


www.aaft.com

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी


www.bujhansi.in

सिम्बियोसिस इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन


www.symbiosiscollege.edu.in

एमिटी यूनिवर्सिटी,


www.amity.edu

एपीजे सत्या युनिवेर्सिटी,


www.university.apeejay.edu

जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी


www.jimicoe.in

अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी


www.amu.ac.in

MJP रुहेलखंड यूनिवर्सिटी, बरेली


www.mjpru.ac.in

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद


www.tmu.ac.in

छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी, कानपूर


www.kanpuruniversity.org












मास कम्युनिकेशन में कैरियर । Mass Communication me career kaise banaye मास कम्युनिकेशन में कैरियर । Mass Communication me career kaise banaye Reviewed by Sanjay Kumar on December 15, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.